content top

Dadasaheb Phalke Icon Award Films KALYANJI JANA Presents Free Food Distribution

Dadasaheb Phalke Icon Award Films KALYANJI JANA Presents Free Food Distribution

Free food (Bhandara) everyday for Film Industry Artists..

Starting from 6th January, 2021. Time: 12pm to 2pm only

That’s why we are asking for this kits of grain, You are being awarded this year’s 2021 for this..

In a pack

5kg Rice

5kg Aata

3kg Daal

2Oil packet

3kg Sugar

6 soaps

All different types of Masala packets (like…Chili powder, turmeric powder, salt, Tea power, Rai, Jeera powder small packet etc)

*By doing this you have to give a packet of 35 aadami ka anaaj kit*

Only then will you receive the *Darshnik Mumbai Press Media Award 2021* on 24th January..

Venue:

Grand Peninsula Hotel, Sakinaka Metro Station, Sakinaka, Andheri East, Mumbai.

Organiser : DPIAF Team And Kalyanji Jana

DADASAHEB PHALKE ICON AWARD FILMS (DPIAF), KJ TALKIES OTT PLATFORM AND KJ NATURAL WATER PRESENTS

2nd MR, MISS & MRS ICON DARSHNIK MUMBAI FASHION SHOW  2021

Registration fees:

21,000/- rupees only

Benefit:

Grooming 2days

Compulsory trophy, Certificate, Sash, crown..

And also got work in Webseries in KJ TALKIES OTT PLATFORM (for all participants)

  

Winners:

winner and 1st & 2nd Runner up

(Crown, trophy, certificate SEPARATELY)

And chance lead role (kj talkies OTT PLATFORM)

And for winner will be honoured upcoming award show Nari Shakti ACHIEVER Award On 24th April

#Surprise gift For Winner

# Gift hamper for all participants

*Venue* Grand Peninsula Hotel, Sakinaka Metro Station, Andheri East ,Mumbai.

Date 24th January 2021

Timing 12 p.m. to 4 p.m.

Ping me profile:

kalyanjijana@gmail.com

darshnikmumbai@gmail.com

ORGANISER – KALYANJI JANA  (Chairman and founder) & DPIAF TEAM

9167827020 – 8169461311

www.dpiaf.com

www.kjtalkies.com

Read More

Aries International Maritime Research Institute (AIMRI) In Association With Indywood Billionaires Club Announces The Maiden Edition Of Indywood Billionaires Club Startup Awards 2021

Aries International Maritime Research Institute (AIMRI) In Association With Indywood Billionaires Club Announces The Maiden Edition Of Indywood Billionaires Club Startup Awards 2021

AIMRI, in association with Indywood Billionaires Club (IBC), has announced the maiden edition of Indywood Billionaires Club Startup Awards. The event will be a virtual award show scheduled on 23rd February 2021.

Indywood Billionaires Club Startup Awards 2021 aims to recognize and provide business collaboration opportunities to outstanding startups that build innovative products and solutions. They must also have a high potential to generate wealth, employment, and demonstrate measurable social impact. Indywood Billionaires Club Startup Awards 2021 will incorporate a virtual award ceremony, panel discussions, and product presentation opportunities for organizations to present their concept. Besides offering organizations an opportunity to pitch their products in front of investors, AIMRI shall also open incubation possibilities for deserving projects as well.

Dr. Sohan Roy, Founder President of Indywood Billionaires Club, stated, “This is the first time we have initiated such a concept. As part of the ‘Made in India’ vision, our aim is to promote indigenous products and innovative concepts and have the potential to simplify lives globally. This unique initiative will be a golden opportunity for startup owners to showcase their brands and raise their brand value. This will also be a perfect platform for organizations to raise investments by promoting their winning products/concepts in the Indywood Billionaires Club circle. So, if you have a product/concept which you believe in, then this is the platform for you.”

Some of the award categories include Innovative Startup of the Year, Technology-Based Startup of the Year, Art & Craft Startup of the Year, Digital Startup of the Year, Promising Startup of the Year, Mobility Startup of the Year, Energy Startup of the Year, Logistics Startup of the Year, Food & Beverage Startup of the Year, Healthcare Startup of the Year, Education Startup of the Year, retail Startup of the Year, Tourism & leisure Startup of the Year, Real Estate Startup of the Year, Social Impact Startup of the Year, E-Commerce (B2B) Startup of the Year, Rural Startup of the Year, Agricultural Startup of the Year, Women-led Startup of the Year, and Green Startup of the Year.

  

Preliminary Evaluation & filtering will be conducted by the Research & Incubation Hub of the project – Aries International Maritime Research Institute (AIMRI). The Final Evaluation will be conducted by the members of Indywood Billionaires Club (IBC). The last date for nomination is 5th January 2021.

To nominate your organization or to know more details  visit : http://indywoodbillionairesclub.com/startup/ or contact  +91 – 9539000509 (India), +971 – 566796096 (UAE) or mail to : startup@indywood.co.in

Read More

Indywood Talent Hunt 2020 Draws Curtains After An Eventful Virtual Grand Finale

Indywood Talent  Hunt 2020 Draws Curtains After An Eventful Virtual Grand Finale

Indywood Talent Hunt has completed yet another milestone by concluding it’s the virtual grand finale. Gearing up with the new standard, an biggest cultural fiesta, Indywood Talent Hunt, was conducted online from 11-12 December 2020. The event was telecasted live via zoom and Indywood Talent hunt Facebook page. Since its first event, ITH has been highly acclaimed for its unbiased cultivation of deserving talents and opening doors of opportunities to the Indian film industry.
There were nine events, which were divided into sub-junior, junior senior categories. Owing to the event’s reputed legacy, the number of participants showed a straight hike even during the pandemic situation. There were two rounds of competition, in which the first was a voting round which made an astonishing reach of about 2 million views on social media platforms. The finalists were decided after evaluating jury marks. The competition was tough, which resulted in the sharing of prizes in numerous categories by more than one participants. Mr and Miss. Indywood titles were awarded to Aarnav Nischal Boidi and Lavalina Sandeep Nair in the sub-junior category, Parthasarathy Manu and Navami Kunhiraman in the junior category and G. Govind Sreekar and Shredha Rajesh in the senior class, respectively. 63 winners were chosen from hundreds of youngsters who participated in various events. Overall championship was bagged by Reha Music and Dance Institute, while Gurukul Studios, Dubai, was selected as the overall championship runner-up.
Indywood Talent Hunt is a part of Project Indywood. This ambitious $10 billion project envisions to brand Indian movies globally and establish India as the venue for the world’s largest investor-friendly market.
At the inaugural ceremony, Dr. Sohan Roy, Founder of Project Indywood, quoted, “Indywood Talent Hunt was launched in 2015. Since then, its popularity has increased day after day. Through this unique platform, we have been able to identify many talented individuals who have made a mark for themselves in this Indian film industry. I am very happy that we are able to being such talented individuals to limelight and we are sure they will achieve big in the future.”
In 2019, when Indywood Talent Hunt went international, it had overwhelming participation of over 1 lakh individuals from the UAE and India. This year, owing to the COVID pandemic, the organizers decided to go online for its 2020 event. The competition categories included vocals and instrumental, Music, Art, Dance, Photography, and fashion & Social Media events.


The ITH has witnessed a record 20,000 grand finalist and achieved 215 placements in the entertainment industry in the last five years. Online voting and a YouTube Streaming Round were held from November 1 to 10. Finalists were shortlisted for the grand finale based on voting and judges’ evaluation.

Indywood Talent Hunt International | Online Edition!

Day 1 Link:

Facebook Page: www.facebook.com/indywoodtalenthunt

*Day 2* Link –

Facebook Page: *www.facebook.com/indywoodtalenthunt*

Read More

Director Jehangir Irroni Peshawar Gets Exceptional Response

Director Jehangir Irroni Peshawar  Gets Exceptional Response

Peshawar Web Series starring Rajeev Sen, Actor Ashmit Patel, Rakshanda Khan, Aadarsh Balakrishna, Rushad Rana, Shishir Sharma, Sakshi Prathan, Satish Sharma, Amitriyaan and helmed by Award – Winning director Jehangir Irroni has premiered on ULLU over the weekend. It is a heart-warming story about a terrorist attack that took place at Peshawar’s Army Public School on December 16, 2014, in which more than 148 people, most of them being children were killed.

As the reports are pouring well, Peshawar is doing exceptionally well on Internet. The film shares a unique point of view about the human impact of the global issue of terrorism. The concept is fresh. It is a tough subject to tackle, informing and drawing the audience into what exactly has been going on in Pakistan. The web series succeeds there. It manages to take you away into this world haunted by tragedy, violence and destruction and evokes emotions in the right measure.  It’s a heart-warming tale of hope and not just a bleak look at the circumstances. The film talks about realistic solutions to a complex issue; giving an aim and hope to the future generation so they can stay away from the path of destruction.

A commendable effort, Peshawar is finding love amongst the audience. The web series has found an audience and many are raving about it! It’s definitely worth a watch. The Series was shot in Dehradun, Masuri, Mumbai, Pavana lake and a few more locations which was really challenging as it was based on a sensitive topic.

Read More

It’s A Wrap Rohit Pathak Completes Shooting Of CHECK Directed By Chandra Sekhar Yeleti

It’s A Wrap Rohit Pathak Completes Shooting Of CHECK  Directed By Chandra Sekhar Yeleti

Actor Rohit Pathak has wrapped up shooting for his next, titled Check. The film is directed by Chandra Sekhar Yeleti and will release in 2021. The actor took to Social media Platform to share the last day’s pictures.
Rohit Pathak said, “I want to thank each and every one from the unit for coming to set every day, putting themselves at risk and doing what we all love doing. As we all fight through this pandemic. Let’s always remember This shall pass too”.
During the final phase of shoot, the recently released Title & 1st look poster got phenomenal response from everyone. Rohit Pathak can be seen in a rough look. A chess-board and barbed wire hint at the film being a prison drama. Chandra Sekhar Yeleti is known for making edgy films like Aithe, Anukokunda Oka Roju, Prayanam and more.

The collaboration between Rohit and Chandra Sekhar was announced in June last year. Rakul Preet Singh seemingly plays a lawyer in the film while Priya Prakash Varrier plays Nithiin’s love interest. MM Keeravani will be composing the music.

Read More

Actress Prajakta Considers Sridevi Her Role Model

Actress Prajakta Considers Sridevi Her Role Model

श्रीदेवी को अपना रोल मॉडल मानती हैं ऐक्ट्रेस प्राजक्ता

उभरती अभिनेत्री प्राजक्ता की मुख्य भूमिका वाली बॉलीवुड फिल्म अगले साल होगी रिलीज़

स्टार प्लस के शो “इस प्यार को क्या नाम दूं” फेम ऐक्टर ज़ुबैर खान के साथ काम कर चुकी प्राजक्ता नए साल में करेंगी नया धमाल

बॉलीवुड की चुलबुली अदाकारा श्रीदेवी को देश भर की बहुत सी नई प्रतिभाओं ने अपना रोल मॉडल माना है और उनकी तरह अभिनेत्री बनने का ख्वाब देखा है। ऐक्ट्रेस प्राजक्ता भी श्रीदेवी की बहुत बड़ी फैन रही हैं। प्राजक्ता को श्रीदेवी की नेचुरल एक्टिंग बेहद पसंद थी। वह हमेशा उनकी फिल्म्स देखती रहती हैं और आज भी उनकी अदाओं को फॉलो करती रहती हैं।

एक्ट्रेस बनने के सपने का पीछा करते हुए प्राजक्ता ने मुख्य भूमिका वाली एक फिल्म कर ली है जो नेक्स्ट ईयर रिलीज़ होगी, वहीं देव नेगी जैसे सिंगर द्वारा गाए गए एक म्यूज़िक विडियो में उन्होंने ज़ुबैर खान के साथ काम भी क़िया है, जो ऑडियो लैब द्वारा रिलीज़ होकर लोकप्रिय हो चुका है।

प्राजक्ता को बचपन से ही एक्टिंग, डांस और स्टेज शो में इंटरेस्ट था। वह अपनी सोसायटी में होने वाले फंकशन्स में हमेशा पार्टिसिपेट करती थीं। स्कूल का वार्षिक फंक्शन हो या कोई भी सांस्कृतिक फंक्शन हो, प्राजक्ता सब में डांस कंपटीशन में भाग लेती थीं। उन्हें २०१६ में आयोजित एक फैशन शो में बेस्ट प्रिंसेस ऑफ द ईयर के खिताब से नवाजा गया था। उसके बाद उन्होंने उसी साल बेस्ट फॅमिली कांटेस्ट में पार्टिसिपेट किया था, जिसमें उन्होंने अपनी फॅमिली के साथ एक प्ले किया था। उस में भी उन्होंने फर्स्ट प्राइस जीता था। उसके बाद उनका एक्टिंग में इंटरेस्ट  ज्यादा बढ़ गया। उन्होंने २०१८ में लाइव वायर इंस्टीट्यूट मुंबई ऑफ एक्टिंग का कोर्स किया। इससे उन्होंने अदाकारी की बारीकियां सीखीं और उनका आत्मविश्वास काफी बढ़ा। साथ ही उन्होंने विदुर चतुर्वेदी के इंस्टीट्यूट मुंबई से उर्दू डिक्शन सीखने के लिए और एडवांस एक्टिंग ट्रेनिंग के कोर्स किया। इसके अलावा उन्होंने बॉलीवुड के डायरेक्टर इनायत शेख़ से उर्दू डिक्शन, हिंदी डिक्शन, एक्टिंग और एकस्ट्रा एक्टिविटीज की भी ट्रेनिंग हासिल की।

फिर उन्होंने ऑडिशन देना शुरू किया और भाग्य से उसी साल उन्हें एक बड़ा ब्रेक मिला। उन्हें बॉलीवुड मूवी “क्राइम पेबैक” में लीड रोल मिला। उसकी शूटिंग कंपलीट हो चुकी है, फिलहाल उस प्रोजेक्ट का पोस्ट प्रोडक्शन का काम चल रहा है। उसके अलावा उन्होंने लीड रोल में दो और प्रोजेक्ट को साइन किया। उसमे से एक वेब सिरीज़ है, जिसका नाम है “रिस्क नामा 2”, इसका शूट हो चुका है, फरवरी २०२१ तक इसे रिलीज़ किया जाएगा।  प्राजक्ता के पास और भी एक मूवी प्रोजेक्ट है जिसका शूट फरवरी में स्टार्ट होने वाला है। जिसको दीवाली २०२१ तक रिलीज़ करने की  प्लानिंग है।

2020 में प्राजक्ता का एक एलबम सांग रिलीज़  हुआ है जिसका नाम है “काश कोई मेरा भाई  होता” जिसे बॉलीवुड के फेमस सिंगर देव नेगी और सिंगर श्रुति ने आवाज़ दी है। देव नेगी जुड़वां 2 के गीत “चलती है क्या नौ से 12” और “स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2” के गीत “मुंबई दिल्ली दी कुड़ियां” के लिए जाने जाते हैं। इस गाने में प्राजक्ता के भाई का किरदार मशहूर टीवी और बॉलीवुड एक्टर ज़ुबैर खान ने अदा किया है, जो “इस प्यार को क्या नाम दूं”, आहट और “इमोशनल अत्याचार” जैसे टीवी सीरियल्स और “लेकर हम दीवाना दिल” जैसी बॉलीवुड मूवी में नज़र आ चुके हैं।

 

ये गाना इस साल रक्षाबंधन के शुभ अवसर पर ऑडियो लैब म्यूज़िक कम्पनी द्वारा  रिलीज़ हुआ, जिसे म्यूज़िक वर्ल्ड में बहुत ही अच्छा रेस्पॉन्स मिला।

प्राजक्ता ने एक्टिंग के अपने सपने को पूरा करने के साथ साथ अपना ग्रेजुऐशन भी कंपलीट किया और साथ ही २०१७ में उन्होंने सर जे जे स्कूल ऑफ आर्ट कॉलेज से फाइन आर्ट में डिप्लोमा भी किया है। वह एक ऐक्टर होने के साथ साथ एक पेंटर भी हैं। इस तरह देखा जाए तो प्राजक्ता बहुमुखी प्रतिभा रखती हैं।

Read More

Dildar Se Dil Lagal Film’s Post Production Started

Dildar Se Dil Lagal Film’s Post Production Started

फिल्म “दिलदार से दिल लागल” की पोस्ट प्रोडक्शन स्टार्ट।

विशाल सिंह और तनुश्री चटर्जी के साथ आम्रपाली दूबे की अपना अलग अंदाज में जलवा।

भोजपुरी  फिल्म हथियार,ग़दर 2,ले आइब दुल्हनिया पाकिस्तान से, जैसी हिट फिल्मो में नजर आने वाले एक्शन हीरो विशाल सिंह अब जल्द ही एक रोमांटिक फिल्म में नजर आयेंगे। विशाल सिंह तनुश्री चटर्जी के साथ संस्कृति फिल्मस क्रिएशन के बैनर तले बनी रोमांटिक और एक्शन से भरपूर फिल्म “दिलदार से दिल लागल” मेे एक अलग अवतार में नजर आएंगे। इस फिल्म की शूटिंग उत्तर प्रदेश में पूरी की गई है। निर्माता गौरव कुमार व जी शर्मा और निर्देशक विशाल यादव की निर्देशन में बनी फिल्म गोरखपुर उत्तर प्रदेश के कई खूबशूरत लोकेशनों पर शूट की गई है इस फिल्म में कुल 8 गाने है।

फिल्म के संगीतकार ओम झा, लेखक त्रिलोक गाजीपुरी, डी ओ पी डी के शर्मा, कोरियोग्राफर संजय कोर्वे, एक्शन मास्टर दिनेश यादव, आर्ट डायरेक्टर नज़ीर हुसैन, ड्रेस डिजाइनर विद्या मॉर्या और प्रोडकशन मैनेजर शेखर यादव हैं। जबकि प्रोजेक्ट डिज़ाइनर रत्नेश बर्णवाल है।

फिल्म के कलाकारों में विशाल सिंह और तनुश्री चटर्जी के अलावा गोपाल राय, रत्नेश बर्नवाल, अयाज़ खान, मनोज टाईगर, राज प्रेमी ,सोनिया मिश्रा, रीना राज हैं।

  

इस फिल्म की विशेषता यह है कि इसमें स्पेशल अपीयरेंस मेंयूट्यूब क़वीन आम्रपाली दुबे को रखा गया है जो

दिनेश लाल यादव निरहुआ के साथ दर्जनों भोजपुरी की सुपर हिट फिल्मों में काम कर चुकी आम्रपाली दूबे इस फिल्म में भी जलवा देखने को मिलेगा। जो ऑडिएंस के लिए एक सरप्राइज पैकेज होगा।

Read More

Dance And Art Can Change Social Issues And Transform People – Geeta Chandran

Dance And Art Can Change Social Issues And Transform People – Geeta Chandran

नृत्य और कला के जरिये सामाजिक मुद्दों के साथ लोगों की विचारधारा में भी लाया जा सकता है बदलाव: गीता चंद्रन

29 दिसंबर 2020, कोलकाता: सुप्रसिद्ध भरतनाट्यम डांसर एवं नाट्य संगीत की अदाकारा पद्मश्री गीता चंद्रन का मानना है कि, नृत्य और कला के जरिये सामाजिक मुद्दों के साथ समाज के लोगों की सोच एवं उनकी विचारधारा में बड़ा बदलाव लाया जा सकता है। अगर हम कला और शिक्षा को अधिक महत्व देकर इसके अर्जन पर जोर देते तो हमारे आसपास आज इतनी हिंसा और तनाव का माहौल नहीं होता, क्योंकि कला आपको अधिक संवेदनशील बनाना सिखाती है। श्री सीमेंट के सौजन्य से कोलकाता की सुप्रसिद्ध सामाजिक संस्था प्रभा खेतान फाउंडेशन” द्वारा आयोजित “एक मुलाकात विशेष” कार्यक्रम के एक घंटे के विशेष ऑनलाइन सत्र में अपने विचार व्यस्क करते हुए बहुमुखी नृत्य शिक्षक, कार्यकर्ता और नाट्य कलाकार के अलावा नृत्य विद्यालय के संस्थापक अध्यक्ष पद्मश्री गीता चंद्रन ने यह बाते कही।

अबतक अपने जीवन में टेलीविजन, वीडियो, फिल्म, थियेटर में काम कर चुकीं गीता चंद्रन ने अपने विचारों और जीवन के अनुभव को श्रीमती शिंजिनी कुलकर्णी, अहसास वुमेन ऑफ नोयडा के साथ ऑनलाइन सत्र में साझा किया। देश के विभिन्न कोने से उपस्थित लोग इस ऑनलाइन सत्र में शामिल हुए। देश के कई भरतनाट्यम के पारंपरिक स्कूलों से कई लोगों की चित्रकारियों और कला को लेकर गीता चंद्रन कठपुतली और मार्शल आर्ट जैसी क्रॉस आर्ट का भरतनाट्यम में प्रयोग कर रही हैं।

”गीता ने कहा: इससे पहले देशभर में अधिकतर कथक के दर्शक होते थे। भरतनाट्यम को अन्य कलाकारों के प्रदर्शन के बाद रात को 1 बजे या 2 बजे का समय दिया जाता था। पहले के दिनों में कुछ ऐसा हुआ करता था। उस समय एक दर्शक के बीच गैर-नर्तकियों को लाना एक नुकसान का व्यापार का माध्यम हुआ करता था, मैंने दर्शकों के बीच तेजी से अपना नृत्य पेश किया और इसे दर्शकों के मन में बसाने की कोशिश की।

गीता चंद्रन ने कहा, मुझे लगता है कि दर्शकों में भरतनाट्यम की डिमांड बढ़ी है। मै उन लोगों को विनम्र प्रणाम करती हूं, जिन्होंने हमारे लिए इतनी दूर से इस कार्यक्रम में आने का मार्ग प्रशस्त किया। गीता चंद्रन ने कहा कि, तमिलनाडु की संस्कृति में भरतनाट्यम गहराई से समाहित है और पूरी तरह से यह इस परंपरा में निहित है क्योंकि इसके बाद इसे बहुत संरचित और संस्थागत शिक्षण मिला।

गीता ने कहा : मैंने 90 के दशक में गुरु दक्षिणा मूर्ति सर से शिक्षा ग्रहण करना शुरू किया। शुरुआत में मैं सिर्फ उनकी अकादमी में उनकी मदद कर रही थी। वह मुझे अपने छात्रों को बैठाने और देखरेख करने के लिए अपने साथ शिक्षण संस्थान में ले जाया करते थे। क्योंकि वो मुझे साथ ले जाते थे, इसलिए मुझे पढ़ने और आगे बढ़ने के लिए उनसे बहुत आशीर्वाद मिला।

भरतनाट्यम और उनके स्कूल “नाट्य वृक्ष” में पढ़ाने की शैली का उल्लेख करते हुए गीता ने कहा, मुझे एहसास हुआ कि शहरों में बच्चे अंतर्राष्ट्रीय परंपरा में ढलने के लिए एक सपने का पीछा करते हुए आगे बढ़ते हैं, जो अभी तक उनकी अपनी परंपरा में आधारित हैं। इसलिए मुझे एक ऐसी शिक्षा शास्त्र के बारे में सोचना था जो नई पीढ़ी की सोच एवं उनकी विचारधारा से हमे जोड़ सके। ऐसा होने पर कई जगहों पर डिस्कनेक्ट दूर  हो सकता था। इसलिए हमने बहुत सारे रंगों, बनावट, मिथकों, संगीत और रूप का उपयोग करके जगह बनाई, क्योंकि मुझे लगता है कि सौंदर्य गुणों को सिखाया नहीं जा सकता। इसका अनुभव करने की जरूरत होती है। इन सभी चीजों को शिक्षा शास्त्र में सिखाया जाता है, जिससे मन में जिज्ञासाएं और बढ़ती है।

उन्होंने कहा, हमें आज के युवा पीढ़ी के डांसरों को बहुत स्वतंत्रता देनी चाहिए क्योंकि वे बहुत दबाव में होते हैं और रोबोट की तरह जीवनशैली जीते हैं। शिक्षक और छात्र के बीच संवाद बहुत महत्वपूर्ण है और मेरे शिक्षक के बीच कभी संवाद हुआ ही नहीं था, यह एक तरह से बहुत सख्त किस्म की बात थी। मैं ऐसा नहीं चाहती थी, मैं अपने छात्रों के लिए एक दोस्त बनकर रहना चाहती थी।

एक सवाल के जवाब में कि, डांस सीखने के लिए आध्यात्मिक होना ज़रूरी है? इसपर गीता ने कहा, मुझे ऐसा नहीं लगता। मुझे लगता है कि हर आत्मा अलग है, हर व्यक्ति अलग है, हर कोई अलग है, हर कोई समान रूप से मान्य है। मेरे पास ऐसे भी छात्र हैं, जो गैर-विश्वासी हैं। मुझे लगता है कि उन्होंने एक तीव्रता के साथ खूबसूरती से नृत्य पेश किया है जो काफी अलग है।

वृंदावन के राधारमण जी मंदिर में सेवा प्रदर्शन करना मेरे लिए एक जीवन परिवर्तनकारी अनुभव था। मैं इस सेवा का हिस्सा थी, मैं नृत्य नहीं कर रही थी। मैं नृत्य के जरिये राधारमण जी की सेवा में शामिल होना चाहती थी। उन्होंने सिर्फ मेरा पूरा काम संभाला था। मैं वहां इस सेवा के लिए लगभग हर साल जाती थी। यह मेरे लिए नया अनुभव था क्योंकि इसके पहले दक्षिण भारत में सेवा करनेवाले नर्तकियों के बारे में मै काफी पढ़ चुकी थी, क्योंकि भरतनाट्यम दक्षिण भारतीय मंदिरों में अनुष्ठानिक परंपरा से काफी अलग था। मेरे लिए यह लगभग जीवंत होने के समान था, क्योंकि पहले आप जिसके बारे में सिर्फ पढ़ा करते थे लेकिन अब आप वास्तव में मंदिर में सेवा कर रहे थे। यह सेवा आपके ईष्ट देवता के साथ वन-टू-वन जैसा था। अपनी कला के माध्यम से मै अपनी पूरी कला को सेवा के माध्यम से अपने परमात्मा को अर्पित कर रहे होते हैं। मेरे लिए यह पूरी तरह से अलग अहसास था।

Read More

Sona Sharma Wanted To Give The Tribute To Sushant Singh Rajput With His Song Jaan Nisaar From Kedarnath

Sona Sharma Wanted To Give The Tribute To Sushant Singh Rajput With His Song Jaan Nisaar From Kedarnath

Delhi darling fame Sona Sharma is again grooving out on internet after her son’s big fat wedding which was talk of the town in delhi on this month.

She had done flawless acting in her upcoming song with Harry Rana.

She had sizzled out with her acting with the co star Divya Jyoti.

  

Just watch the video and give the feedback

Read More

Trailer Launch Of Mulayam Singh Yadav’s Biopic Main Mulayam

Trailer Launch Of Mulayam Singh Yadav’s Biopic Main Mulayam

मुलायम सिंह यादव की बायोपिक ‘मैं मुलायम’ फ़िल्म का धमाकेदार ट्रेलर लॉन्च

मुम्बई। सपा नेता व उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की बायोपिक ‘मैं मुलायम’ का ट्रेलर धमाकेदार अंदाज़ में लिंक क्रॉफ्ट स्टूडियो, सहारा होटल, मुम्बई में लॉन्च हुआ। उसी अवसर पर फ़िल्म डिस्ट्रीब्यूटर व डॉन सिनेमा के संचालक महमूद अली, अभिनेत्री दीपशिखा नागपाल, आरती नागपाल, ब्राइट के योगेश लखानी, फ़िल्म के मुख्य अभिनेता अमित सेठी, निर्मात्री मीना सेठी मंडल, अभिनेत्री सना अमीन शेख, सुप्रिया कार्णिक, संगीतकार तोशी और शारिब, राइटर राशिद इकबाल, आफताब अली, भूमिका कलिता, सुनील पाल, निर्माता विरल पंड्या और नेहाल सिंह, निर्देशक फैसल खान, कुलदीप सिंह, डीओपी रणविजय सिंह, अनीस शेरोन खान, समीर मलिक और रियाज़ भाटी की विशेष उपस्थिति रही।

एम एस फिल्म्स एंड प्रोडक्शन के बैनर तले निर्मित इस फ़िल्म के निर्देशक सुवेन्दु राज घोष और स्क्रिप्ट राइटर राशिद इकबाल हैं।

इस फ़िल्म को डॉन सिनेमा पूरे विश्व भर में रिलीज करने जा रही है। यह फ़िल्म मुलायम सिंह के जीवन से जुड़ी रोचक पहलुओं के साथ उनके संघर्ष को पेश करेगी।

‘ज़िंदा क़ौमें पांच साल तक इंतज़ार नहीं करती’, समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव के गुरु डॉ राम मनोहर लोहिया के इस मंत्र ने उन्हें देश के सबसे सफल राजनीतिक नेताओं में से एक बना दिया। उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सैफ़ई नामक एक छोटे से गाँव में एक किसान के बेटे ने अपने राज्य का सर्वोच्च नेता बनने के लिए सबसे प्रतिकूल परिस्थितियों में लड़ाई लड़ी।  मुलायम के पिता चाहते थे कि वह एक पहलवान बनें, लेकिन उनके भाग्य में कुछ बड़ा बनना तय था।  एक स्थानीय नेता नाथूराम ने मजबूत इरादों वाले लड़के को देखा और उसे राजनीति में प्रवेश करने का पहला मौका दिया। नाथूराम ने उन्हें उस युग के देश के सबसे प्रभावशाली नेताओं में से एक डॉ राम मनोहर लोहिया से भी परिचित कराया। लोहिया के जीवन में आने के बाद, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह से राजनीति की बारीकियों को सीखा, और तब मुलायम सिंह यादव यूपी की राजनीति में एक बड़ा नाम बन गए.

   

वे चौधरी चरण के राजनीतिक उत्तराधिकारी भी थे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के लिए एक प्राथमिक विद्यालय में एक अंग्रेजी शिक्षक से, यह एक ऐसे आदमी की यात्रा है जो आपातकाल के समय 19 महीने तक जेल में रहा था। यह एक ऐसे व्यक्ति की कहानी है जिसे उस दिन गोली मार दी गई थी जब उसने अपना पहला चुनाव जीता था। जब पूंजीवाद और नौकरशाही राजनीति के मुख्य स्तंभ थे, तो उन्होंने आकर परिदृश्य बदल दिया। यह एक किसान पुत्र की प्रेरक कहानी है जो राज्य का सर्वोच्च नेता बन गया।

Read More
content top